एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स ने 11 फरवरी, 2018 को देश के 31 मुख्यमंत्रियों पर एक रिपोर्ट जारी की है। इस रिपोर्ट में यह बताया गया है कि देश में सबसे अमीर मुख्यमंत्री कौन है और सबसे कम पैसा किस मुख्यमंत्री के पास है। साथ ही इस रिपोर्ट में यह भी बताया गया है कि कितने प्रतिशत मुख्यमंत्रियों पर आपराधिक मामले चल रहे हैं।

आपराधिक मामलो में यह कहती है रिपोर्ट
एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स के नेशनल इलेक्शन वाच (न्यू) के साथ मिलकर किए गए आकलन के अनुसार भारत के करीब 35% मुख्यमंत्रियों पर आपराधिक मामले दर्ज हैं जबकि 81 प्रतिशत मुख्यमंत्री करोड़पति हैं। दोनों संगठनों ने देशभर में राज्य और केंद्र शासित प्रदेश की विधानसभा चुनावों के दौरान मौजूदा मुख्यमंत्रियों द्वारा स्वयं जमा किए गए हलफनामों का अध्ययन कर यह निष्कर्ष निकाला है। एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स की रिपोर्ट के अनुसार 31 मुख्यमंत्रियों में से 11 ने स्वयं के खिलाफ आपराधिक मामले दायर होने की घोषणा की है। यह कुल संख्या का 35% है। इसमें से 26% के खिलाफ हत्या, हत्या की कोशिश, धोखाधड़ी जैसे गंभीर आपराधिक मामले दर्ज हैं।

इतने अमीर हैं मुख्यमंत्री
इसी प्रकार 25 मुख्यमंत्रियों यानी 81% करोड़पति हैं। इनमें से दो मुख्यमंत्रियों के पास 100 करोड़ रुपये से अधिक की संपत्ति है। मुख्यमंत्रियों की औसत संपत्ति 16.18 करोड़ रुपये है। आकलन के अनुसार देश के सबसे अमीर मुख्यमंत्री आंध्रप्रदेश के चंद्रबाबू नायडू हैं। जिनकी घोषित संपत्ति 177 करोड़ रुपये है। अरुणाचल प्रदेश के पेमा खांडू दूसरे सबसे अमीर मुख्यमंत्री हैं। वहीं, सबसे कम संपत्ति वाले मुख्यमंत्री त्रिपुरा के मणिक सरकार हैं। उनकी संपत्ति 27 लाख रुपये है।


 

Important links:

  • Share: