अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष ने 2019 में भारत की वृद्धि दर 7.4 प्रतिशत रहने का अनुमान लगाया है

  • Share:

Highlights

  • अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) ने अपनी नवीनतम वर्ल्ड इकोनॉमिक आउटलुक रिपोर्ट में 2018 के चालू वर्ष में भारत की वृद्धि दर 7.3 प्रतिशत एवं 2019 में 7.4 प्रतिशत की वृद्धि दर हासिल करने का अनुमान लगाया है।

  • हाल के वर्षों में भारत में वस्तु और सेवा कर, मुद्रास्फीति लक्षित कार्ययोजना, शोधन अक्षमता और दिवालियापन संहिता तथा विदेशी निवेश को उदार बनाने और इसे व्यापार करने में सुगम बनाने सहित कई महत्त्वपूर्ण सुधार लागू किये गए हैं।

  • 2017 में चीनी अर्थव्यवस्था विश्व की सबसे तेज़ी से बढ़ने वाली अर्थव्यवस्था थी और इसकी वृद्धि दर भारत से 0.2 प्रतिशत अंक अधिक थी। 

imf report 2018

अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) ने अपनी नवीनतम वर्ल्ड इकोनॉमिक आउटलुक रिपोर्ट में 2018 के चालू वर्ष में भारत  की वृद्धि दर 7.3 प्रतिशत एवं 2019 में 7.4 प्रतिशत की वृद्धि दर हासिल करने का अनुमान लगाया है। 
तथ्य:

  • आईएमएफ की रिपोर्ट सही साबित हुई तो भारत 2018 में 0.7 प्रतिशत से अधिक की वृद्धि दर से चीन को पीछे छोड़कर दुनिया की सबसे तेज़ी से बढ़ती प्रमुख अर्थव्यवस्था बन जाएगी। 
  • इस रिपोर्ट के अनुसार, बढ़ती मांग और ईंधन की बढ़ती कीमतों के बीच भारत में मुद्रास्फीति बढ़ रही है जो कि वित्त वर्ष 2016-17 के 4.5 प्रतिशत की तुलना में वित्त वर्ष 2017-18 में 3.6 प्रतिशत और वित्त वर्ष 2018-19 में 4.7 प्रतिशत अनुमानित है।
  • हाल के वर्षों में भारत में वस्तु और सेवा कर, मुद्रास्फीति लक्षित कार्ययोजना, शोधन अक्षमता और दिवालियापन संहिता तथा विदेशी निवेश को उदार बनाने और इसे व्यापार करने में सुगम बनाने सहित कई महत्त्वपूर्ण सुधार लागू किये गए हैं।

चीन की स्थिति:

  • 2017 में चीनी अर्थव्यवस्था विश्व की सबसे तेज़ी से बढ़ने वाली अर्थव्यवस्था थी और इसकी वृद्धि दर भारत से 0.2 प्रतिशत अंक अधिक थी। 
  • चीन में विकास दर 2017 में 6.9 प्रतिशत से घटकर 2018 में 6.6 प्रतिशत और 2019 में 6.2 प्रतिशत रहने का अनुमान है।
  • 2018 के लिये अमेरिका की वृद्धि दर 2.9 प्रतिशत और 2019 के लिये 2.5 प्रतिशत अनुमानित है।

Other details:

Important links:

Related Articles:

  • Share: