इंडोनेशिया:समुद्र में क्रैश हुआ विमान,पायलट समेत 189 लोगों की मौत

  • Share:

Highlights

  • इंडोनेशिया का विमान सोमवार को जकार्ता से उड़ान भरने के कुछ मिनटों बाद ही क्रैश हो गया। बता दें जेटी-610 नाम का विमान जकार्ता से पंगकल पिनॉन्ग जा रहा था। इस विमान का संपर्क टेकऑफ के 13 मिनट बाद ही टूट गया।

  • इस हादसे में सभी 189 लोगों की मौत हो गई, फ्लाइट में 181 यात्री सवार थे जिनमें एक बच्चा और दो नवजात समेत 0 08 क्रू मेंबर्स भी थे।

  • यह बोइंग 737 मैक्स-8 की पहली दुर्घटना है। 2016 तक यह मॉडल सिर्फ कमर्शियल कामों के लिए इस्तेमाल किया जाता था। इसे लॉयन एयर को अगस्त में ही डिलीवर किया गया था।

 Indonesia Plane crash

इंडोनेशिया का विमान सोमवार को जकार्ता से उड़ान भरने के कुछ मिनटों बाद ही क्रैश हो गया। बता दें जेटी-610 नाम का विमान जकार्ता से पंगकल पिनॉन्ग जा रहा था। इस विमान का संपर्क टेकऑफ के 13 मिनट बाद ही टूट गया। इस हादसे में सभी 189 लोगों की मौत हो गई, फ्लाइट में 181 यात्री सवार थे जिनमें एक बच्चा और दो नवजात समेत 0 08 क्रू मेंबर्स भी थे। इस विमान में इंडोनेशिया के वित्त मंत्रालय के 20 अधिकारी भी सवार थे। इस प्लेन के दो पायलटों में से एक भारत के कैप्टन भव्य सुनेजा थे। बचावकर्मियों ने समुद्र से कई लोगों के शव निकाल लिए हैं। संभवत: यह हादसा इंडोनेशिया का सबसे बड़ा विमान हादसा हो सकता है। इससे पहले दिसंबर 2014 में एयर एशिया फ्लाइट क्यूजेड8501 क्रैश में 162 लोगों की मौत हो गई थी।
तथ्य:
विमान कंपनी लॉयन एयर के सीईओ एडवर्ड सैट अनुसार रविवार को ही प्लेन में कुछ तकनीकी खराबी आई थी। तब प्लेन डेनपसार से जकार्ता आ रहा था। हालांकि, उन्होंने साफ किया कि इंजीनियरों ने खराबी को ठीक करने के बाद ही सोमवार सुबह प्लेन को रवाना किया। इंडोनेशिया एयर नेविगेशन के अधिकारी सिंदु रहायु ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान बताया कि विमान के उड़ान भरने के बाद पायलटों ने लौटने की अनुमति मांगी, लेकिन इजाजत मिलने के ठीक बाद एयर ट्रैफिक कंट्रोल (एटीसी) का फ्लाइट से संपर्क टूट गया।
विमान एवं पायलट:
यह बोइंग 737 मैक्स-8 की पहली दुर्घटना है। 2016 तक यह मॉडल सिर्फ कमर्शियल कामों के लिए इस्तेमाल किया जाता था। इसे लॉयन एयर को अगस्त में ही डिलीवर किया गया था। विमान के पायलट भी काफी अनुभवी थे। दोनों को कुल 11 हजार घंटे फ्लाइट उड़ाने का अनुभव था।  

Other details:

Important links:

Related Articles:

  • Share: