राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद ने 13 फरवरी, 2018 को राष्‍ट्रपति भवन में ‘एलपीजी पंचायत’ का आयोजन किया। एलपीजी पंचायत पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्रालय द्वारा आयोजित की गई थी। इसका उद्देश्‍य एलपीजी उपभोक्‍ताओं को एक दूसरे से बातचीत करने, एक दूसरे से सीखने तथा अनुभव साझा करने के लिए मंच प्रदान करना है। प्रत्‍येक एलपीजी पंचायत में लगभग 100 एलपीजी उपभोक्‍ता एलपीजी के सुरक्षित और सतत उपयोग तथा एलपीजी के लाभ और खाना पकाने में स्‍वच्‍छ ईंधन तथा महिला सशक्तिकरण के बीच संबंध पर चर्चा करने के लिए अपने निवास के नजदीक एकत्रित होते हैं।

पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्रालय की मंशा 31 मार्च, 2019 से पहले देशभर में ऐसी एक लाख पंचायत आयोजित करने की है। भारत में लगभग 21 करोड़ परिवार एलपीजी का उपभोग कर रहें है। एलपीजी उपयोग की बात की जाए तो शहरी आबादी 100 प्रतिशत एलपीजी का प्रयोग करती है जबकि गांवों में 51 प्रतिशत परिवार एलपीजी का उपयोग करते हैं। वहीं उज्जवला योजना के तहत दिये गये 0 करोड़ कनेक्शन में 35 प्रतिशत परिवारों ने अभी तक दूसरा सिलेंडर नही लिया है। 
 

Important links:

  • Share: