प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 13 मार्च, 2018 को टीबी मुक्त शिखर सम्मेलन की शुरुआत की। इस  इस मौके पर प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत ने 2025 तक पूरी तरह से टीबी को खत्म करने का लक्ष्य रखा है जबकि वैश्विक लक्ष्य 2030 का है।  प्रधानमंत्री ने आगे कहा कि 'भारत से टीबी के सफाए के लिए राज्य सरकारों की भूमिका महत्वपूर्ण है। मैंने सभी मुख्यमंत्रियों को पत्र लिख इस अभियान से जुड़ने को कहा है।' प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने विज्ञान भवन में सम्मेलन का उद्धघाटन करते हुए यह बातें कहीं। 
12 हजार करोड़ रुपए की राशि टीबी उन्मूलन के लिए आवंटित
उल्लेखनीय है कि अगले 03 वर्षो में तपेदिक रोग (टीबी) के उन्मूलन के लिए राष्ट्रीय रणनीतिक योजना को 12 हजार करोड़ रुपए की राशि आवंटित की गई है, ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि प्रत्येक मरीज को गुणवत्ता संपन्न रोग निदान, उपचार और समर्थन मिल सके। राष्ट्रीय रणनीतिक योजना का उद्देश्य टीबी के सभी रोगियों का पता लगा कर उन्हें उपचार मुहैया कराना है।
इस सम्मेलन का आयोजन स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय, विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO), दक्षिण पूर्व एशिया क्षेत्रीय कार्यालय (SEARO) और स्टॉप टीबी पार्टनरशिप से किया जा रहा है।

Important links:

  • Share: