EDITORIAL

पैर कट गया, मगर उम्मीद बाकी रही

बढ़ चला मंजिल की ओर मैं चलने-फिरने से लाचार होकर जीवन नहीं जीना चाहता था। इसलिए जयपुर जाकर वहां से जयपुर फुट लगवाया और चलने की प्रैक्टिस शुरू कर दी। ईश्वर की कृपा से शीघ्र ही मैं सुचारू रूप से चलने लग गया और Read More...

View More

IAS 2017 exam: Secure your rank with the right strategy

The UPSC Civil Services Preliminary Exam is scheduled on 18th of June this year. So, you don’t have enough time left. You have time just to finalize your preparation and pick only what's most important. Your chances to secure a spot in the Pre exam will become slimmer if you don't go for a strategic approach. Here are the tips you should follow to maximize your chances for cracking the exam. - Since, there is not enough time left, don't waste your time trying to learn everything. If you read too many material, follow too many strategies and search too many ...

View More

'द हिंदू' संपादकीय (एडिटोरियल)

एक निष्पक्ष इंटरनेट बिना भेदभाव के सभी को इंटरनेट सुलभ कराने के लिए जारी संघर्ष के लिए 28 नवंबर, 2017 को आया फैसला स्वागत योग्य है। भारतीय दूरसंचार विनियामक प्राधिकरण (TRAI) अंततः नेट निष्पक्षता के पक्ष में स्पष्ट दिशानिर्देशों के साथ सामने आया जो कि फेसबुक के मुक्त आधारभूत प्रस्ताव के शुरुआती कदम के ढर्रे पर है। मई 2016 और इस वर्ष के जनवरी में परामर्श पत्र जारी होने के बाद प्राधिकरण ने इस बात को दोहराया कि सेवा प्रदाताओं के द्वारा इंटरनेट पर वेबसाइटों के लिए भेदभावपूर्ण तरीका नहीं अपनाया जा सकता है। विशेषकर ट्राई ने प्रदाताओं को कुछ वेबसाइटों ...

View More

'दि इंडियन एक्सप्रेस' संपादकीय (एडिटोरियल)

01 नवम्बर 2017 संयम है जरूरी जब तक संवैधानिक बेंच का फैसला नहीं आता, तब तक सरकार को आधार स्कीम को लेकर अपनी उत्सुकता पर संयम रखना होगा। पिछले सप्ताह, उच्चतम न्यायालय ने सरकार से सवाल किया कि क्या वह नागरिकों को उनके मोबाइल और बैंक खाते, आधार से जोड़ने के लिए दबाव दे रही है? इस सीधे से सवाल का अटॉर्नी जनरल द्वारा दिया गया जबाव संतोषजनक नहीं था। "इसमें कोई ज़बरदस्ती नहीं होगी", के.के.वेणुगोपाल ने अदालत को बताया। परंतु उन्होनें कोई भी ऐसा लिखित दस्तावेज देने से मना कर दिया जो ऐसे लोगों के खिलाफ दंड का प्रावधान बनाऐ, जो ...

View More

'दि इंडियन एक्सप्रेस' संपादकीय (एडिटोरियल)

16 नवम्बर 2017 तय मानकों पर हो पर्यावरण की समीक्षा ग्रीन कोर्ट के हस्तक्षेप ऑड-इवन ‌के जरिये वर्तमान प्रदूषण आपात को नियंत्रित करने को लेकर इस नीति को लागू करने की संभावना पर विराम चिन्ह लगा दिया है। पिछले हफ्ते नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (एनजीटी) ने दिल्ली सरकार को फटकार लगाई, जब दिल्ली सरकार ने सड़कों पर अजीबो-गरीब तरीके से ऑड-इवन लागू करने का फैसला किया। ट्रिब्यूनल ने दबाव बनाया कि केवल कानून के जरिये ही नहीं, जो कि करना अनिवार्य है, बल्कि नीति पर होना जरूरी है, इसलिए सबसे अच्छा तरीका कार्यपालिका पर छोड़ देना है। यह पाया गया कि दिल्ली सरकार की योजना ...

View More

'दि टाइम्स ऑफ इंडिया' एडिटोरियल

Editorials of leading newspapers is provided in Hindi to help students prepare for competitive exams. सफीर बनाम सोफोकल्सः एक आईपीएस ऑफिसर का आईएएस बनने का सपना ‌प्रयास, प्रयास और पुनः प्रयास ही एकमात्र मंत्र है उनके लिए जो सिविल सर्विसेज की परीक्षा देते हैं। कुछ तो इसके इस हद तक आदी हो जाते हैं कि परीक्षा पास कर लेने के बाद भी परीक्षा देते रहते हैं। सफीर करीम ने 2014 की परीक्षा पास की और आईपीएस ज्वॉइन किया। इस बार वह फिर से मैदान में उतरे, और व‌ह भी बेहतर हथियारों के साथ। पुलिस के अनुसार, आईपीएस ऑफिसर को एक माइक्रो कैमरा, ...

View More

'दि टाइम्स ऑफ इंडिया' एडिटोरियल 31 अक्टूबर, 2017

Editorials of leading newspapers is provided in Hindi to help students prepare for competitive exams. सुपरस्टार श्रीकांतः पेरिस की जीत ने उन्हे ख्यातिप्राप्त बैडमिंटन खिलाड़ियों की सूची में ला खड़ा किया है गुंटूर में अपने पिता के धान के खेतों से सीधे सुपर सीरीज बैडमिंटन टूर्नामेंट के शीर्ष मंच पर। भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी किदांबी श्रीकांत का स्टारडम तक का सफर काफी लंबा रहा। पिछले रविवार पेरिस की जीत ने इस 24 वर्षीय खिलाड़ी को ऐसा चौथा खिलाड़ी बनने का रिकार्ड़ अपने नाम करने का मौका दिया, जिसने एक कैलेंडर वर्ष में 4 सुपर सीरीज पुरुष एकल खिताब (इंडोनेशिया, ऑस्ट्रेलिया, डेनमार्क तथा फ्रांस) ...

View More

'दि इंडियन एक्सप्रेस' संपादकीय (एडिटोरियल) 27 अक्टूबर, 2017

Editorials of leading newspapers is provided in Hindi to help students prepare for competitive exams. बनें खुद के सम्पादक युवाओं को फेक न्यूज की पहचान करना सीखना होगा। उन्हे सूचना के और बेहतर स्रोतों की तलाश करनी होगी। प्राचीन रोम से विक्टोरियन काल तक, एक तार्किक और वक्रपटुता का अभ्यास युवाओं को झूठे और संदेहास्पद तथ्यों की पहचान कराने के लिए किया कराया जाता रहा है। समय बदला परन्तु इटली इस बात के लिए प्रतिबद्ध है कि उनके युवा, अपने पूर्वजों की तरह ही, 2017 के इस नये फोरम के लिए तैयार हो जाएं, जो कि है सोशल मीडिया। अक्टूबर के अंत ...

View More

'दि इंडियन एक्सप्रेस' संपादकीय (एडिटोरियल) 24 अक्टूबर, 2017

Editorials of leading newspapers is provided in Hindi to help students prepare for competitive exams. रोल इट बैक सरकार को कानून और प्रेस के दायरे से बचाने के प्रयास, राजे के व्यक्तिगत भय को दर्शाते हैं राजस्‍थान में वसुंधरा राजे सरकार ने प्रचलन से परे, यहां तक कि संविधान से परे कदम उठाने का प्रयास किया है। वह सितम्बर माह के अपने प्रस्ताव को एक कानून बनाने का प्रयास कर रही है जिससे कि सरकारी अफसरों तथा राज्य न्यायिकों के खिलाफ जांच पर अंकुश लगाएगा और उनकी पहचान भी छुपाकर रखेगा। निष्पक्ष जांच ही कानून व्यवस्‍था की आधारशिला है जो शासकीय शक्तियों के ...

View More

'द हिंदू' संपादकीय (एडिटोरियल) अक्टूबर, 2017

Editorials of leading newspapers is provided in Hindi to help students prepare for competitive exams. लास वेगास में नरसंहार : बंदूक के नियंत्रण पर लापरवाही का खतरा बड़ी संख्या में हुई गोलीबारी से अमेरिका को बंदूक पर स्वामित्व विनियमन के लापरवाही के खतरे पर आवश्य जागृत होना चाहिए। अमेरिका के लो‌कप्रिय लास वेगास शहर में बंदूक से लहूलुहान हिंसात्मक दृश्य देखने को तब मिला जब एक शूटर (निशानेबाज) ने संगीत समारोह के दौरान उमड़ी भारी भीड़ में गोली चलाई, जिसमें कम से कम 59 लोगों की मौत हो गई और 500 से अधिक लोग घायल हो गए। आधुनिक अमेरिकी इतिहास में यह गोलीबारी ...

View More