EPFO ( Employee Provident Fund Organisation )

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन

  • कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (Employee Provident Fund Organization) के नाम से शायद ही कोई अपरिचित होगा।
  • इस संगठन में नियुक्ति के लिए विज्ञप्ति संघ लोक सेवा आयोग यानी यूपीएससी जारी करता है।
  • इसके तहत असिस्टेंट प्रोविडेंट फंड कमीशनर (ईपीएफओ) और इन्फोर्समेंट/अकाउंट ऑफिसर के पदों पर नियुक्ति की जाती है।
  • ईपीएफओ के लिए अधिकतम आयु 35 वर्ष और इन्फोर्समेंट/अकाउंट ऑफिसर के लिए अधिकतम आयु 30 वर्ष होती है।

 

  • ईपीएफओ में एपीएफओ और इन्फोर्समेंट ऑफिसर की नियुक्ति के लिए दो चरणों की प्रक्रिया होती है। इसके लिए सबसे पहले लिखित परीक्षा आयोजित की जाती है।
  • लिखित परीक्षा के आधार साक्षात्कार के लिए अभ्यर्थियों को सूचीबद्ध किया जाता है। इसमें उम्मीदवारों की अंग्रेजी, सामान्य ज्ञान और वाणिज्य ज्ञान को परखा जाता है।
  • इन पदों का कार्यक्षेत्र लेखा विभाग और वाणिज्य से संबंधित होता है।
  • इन ऑफिसर का काम कंप्यूटर, इन्फोर्समेंट, रिकवरी, अकाउंट्स, एडमिनिस्ट्रेटिव कैश और लीगल पेंशन के कार्यों को देखना है।
  • इसमें जांच-पड़ताल करना, क्लेम्स को सुलझाना, सामान्य प्रशासन, नकद किताब और प्रशासन व नकद किताब और रिकॉसिलेशन ऑफ बैंक स्टेटमेंट के व्यवस्थिकरण जैसे वैधानिक और प्रशासनिक कार्य भी शामिल हैं।

     

 

  • ईपीएफओ में इन्फोर्समेंट/अकाउंटेंट ऑफिसर के पदों के लिए वेतनमान के तहत 9,300-34,800 रुपये और ग्रेड पे के तहत 4,600 रुपये निर्धारित होते हैं।
  • वही ईपीएफओ के लिए वेतनमान के तहत 15,600-39,100 रुपये और ग्रेड पे के तौर पर 5,400 रुपये दिए जाने का प्रावधान किया जाता है।

     

 EPFO में शामिल होने वाले छात्रों के लिए संघ लोक सेवा आयोग (U.P.S.C) द्वारा निम्नलिखित अर्हता निर्धारित की गयी हैं-

  • इन पदों पर मान्यताप्राप्त विश्वविद्यालय से स्नातक डिग्रीधारक उम्मीदवार आवेदन कर सकते हैं।

  • इसमें लॉ या सीए या सीएस या अकाउंटेंट के क्षेत्र में कार्य करने का अनुभव रखने वाले उम्मीदवारों को वरीयता दी जाती है। 

 

एग्जाम पैटर्न


परीक्षा में सभी प्रश्न बहुविकल्पीय होंगे। 

  • परीक्षा की अवधि 02 घंटे की होगी।
  • प्रत्येक गलत जवाब पर एक तिहाई अंक काटे जाएंगे।
  • प्रश्न पत्र कुल 100 अंकों का होता है, जिसमें प्रत्येक प्रश्न समान अंकों का होता है।
  • परीक्षा हिंदी और अंग्रेजी दोनों भाषा में होती है।

 

एग्जाम में सफल होने के लिए रणनीति, सुझाव और तरकीब

 

पाठ्यक्रम

 


 

 

 1. सामान्य अंग्रेजीः इस खंड में व्यक्ति के अंग्रेजी के ज्ञान और कार्यकुशला को परखा जाता है।
2. भारतीय स्वतंत्रता संघर्ष
3. समसामयिक मुद्दे और विकासपरक मुद्दे
4. भारतीय राजव्यवस्था और अर्थव्यवस्था
5. सामान्य लेखा सिद्धांत
6. औद्योगिक संबंध और श्रम कानून
7. सामान्य विज्ञान और कंप्यूटर एप्लीकेशन का ज्ञान
8. सामान्य बौद्धिक क्षमता और गणितीय अभिक्षमता
9. भारत में सामाजिक सुरक्षा