आरबीआई ग्रेड बी एग्जाम 2018: ऐसे करें रीजनिंग की तैयारी

  • Share:

Highlights

  • आरबीआई ग्रेड बी 2018 की परीक्षा 16 अगस्त को आयोजित होगी।

  • सिलोजिस्टिक रीज़निंग के सवालों को बनाने के लिए अभ्यर्थियों को डायग्राम पर बहुत मेहनत करनी पड़ती है।

  • सीटिंग अरेंजमेंट एन्ड डायरेक्शन एक ऐसा टॉपिक है जिसमें सबसे ज्यादा अभ्यास करने की जरूरत होती है। 

  • रिलेशनशिप कांन्सेप्ट के सवाल आसान होते हैं वहीं स्टेटमेंट कनक्लूजन एक  ऐसा टॉपिक है जो छात्रों की परीक्षा लेता है । 

  •  रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने ग्रेड बी ऑफिसर के 166 पदों पर वैकेंसी निकाली थी। 

rbi mains exam 2018

पिछले कुछ सालों में आरबीआई की परीक्षा देने वाले छात्रों की तादाद में काफी बढोतरी हुई है। पहले ऐसा माना जाता था कि आरबीआई की परीक्षा में वही छात्र सफल होंगे जिनका बैकग्रांउड इकॉनोमिक्स होता है पर ऐसा नहीं है। समय के साथ परीक्षा में बैठने वाले उन छात्रों की तादद में बढोतरी हुई है जो अमूमन दूसरे बैकग्राउंड से आते हैं। भारतीय रिज़र्व बैंक के ग्रेड बी अधिकारी परीक्षा में दो चरण होते हैं। पहला और दूसरा। इस वर्ष जून में आरबीआई ग्रेड बी अधिकारी परीक्षा का पहला चरण आयोजित किया था। जो अभ्यर्थी मुख्य परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं उनके लिए यह एक सुनहरा मौका है आरबीआई आधिकारी बनने का। आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि आरबीआई परीक्षा में रिजनिंग की तैयारी कैसे करें। यूँ तो साथियों रिजनिंग किसी भी परीक्षा में एक अहम भूमिका निभाता है पर आरबीआई के एगजाम में इसकी महत्ता थोड़ी बढ़ जाती है।

 

विषय  सवाल  अंक
रीजनिंग 60 60

 आरबीआई ग्रेड बी के एग्जाम में इस तरह के पैटर्न पर सवाल पूछे जाते हैं:

1. सिलोजिस्टिक रीज़निंग: इस तरह के रीजनिंग बनाने के लिए छात्रों को लाजिकल सोचना पड़ता है। इस टॉपिक में अभ्यर्थियों को डायग्राम पर बहुत मेहनत करनी पड़ती है। लेकिन अगर आपने सही से और पूरे आत्मविश्वास के साथ प्रश्नों का हल किया है तो यहाँ सवालों के सही जवाब होने के चांस ज्यादा होते हैं। कम से कमम दिन में 5 से 6 ऐसे सवालों को हल करें।

2.रिलेशनशिप कांन्सेप्ट: रिलेशनशिप कांन्सेप्ट में काफी कुछ आपक् विवेक पर निर्भर करता है क्योंकि इसके सवाल काफी आसान होते हैं। जब इन सवालों को बनाए तो हमेशा दिमाग में कोडेड बल्ड रिलेशन का ध्यान रखें इसमें सिंगल बल्ड रिलेशन का भी महत्व कम नहीं होता इसलिए इसे भी अपने माइंड में रखें। सीटिंग अरेंजमेंटस् के सवालों पर ज्यादा वक्त बर्बाद ना करें।

3. स्टेटमेंट कनक्लूजन: यह ऐसा टॉपिक है जो छात्र की परीक्षा लेता है या यू कहें कि इस टॉपिक के सवालों से पता चलता है कि छात्र दुविधा में तो नहीं हैं। एक तरह से ये सवाल छात्रों के साथ खेलते हैं। इसलिए आप बड़े आराम से इन सवालों को बनाएं।

4.सीटिंग अरेंजमेंट एन्ड डायरेक्शन: रीजनिंग में ज्यादा सवाल इसी टॉपिक से आता है। लाइनर और डायरेक्शन बेस्ड सवाल भी पूछे जाते हैं। 35 से 40 अंक इस पार्ट से पूछे जाते हैं। यह ऐसा टॉपिक है जिसमें सबसे ज्यादा अभ्यास करने की जरूरत होती है। 

Other details:

Related Articles:

  • Share: