आरआरबी एएलपी और टेक्नीशियन एग्जाम 2018: यूँ करें रिजनिंग की तैयारी

  • Share:

Highlights

  • असिस्टेंट लोको पॉयलाट और टेक्नीशियन पद के लिए रेलवे ने ऑफिशियली 26,502  नौकरियों का नोटीफिकेशन जारी कर दिया है।

  • उम्मीदवार को अब टॉपिक के अनुसार तैयारी शुरू कर देनी चाहिए।

  • उम्मीदवार इस बात पर ध्यान दें कि किस विषय में वो ज्यादा से ज्यादा अंक ला सकते हैं उस टॉपिक पर ज्यादा समय दें।

  • मॉक टेस्ट आज के समय में छात्रों के लिए बहुत कारगर है इससे उन्हें स्पीड भी पता चलता है और एक्यूरेसी भी।

rrb exam

रेलवे ने पहले ही एएलपी और टेक्नीशियन के पद के लिए नोटीफिकेशन जारी कर दिए हैं। इस बार की रेलवे ने 26,502 नौकरियों की घोषणा की है। आरआरबी की परीक्षा पहले के मुकाबले इसबार कठिन होने वाला है यह उम्मीदवारों के मानसिक तनाव का भी परीक्षण लेगा। रेलवे की परीक्षाओं में अक्सर यह दखा जाता है कि इनके सवाल बहुत ज्यादा कठिन नहीं आते हैं। लेकिन इस बार यह परीक्षा छात्रों का इम्तीहान लेगी। इसलिए सफलता आपके लिए लेके आया है रिजनिंग को आसान बनाने का तररीका हम कुछ टिप्स बताएंगे जिनसे आप रिजनिंग के सवालों को बड़ी आसानी से बना लेंगे।

साधारण तौर पर देखा जाए तो रिजनिंग के सवाल को आप हंसी ठिठोली करते बना लेंगे। लेकिन कुछ लोगों को यह गले नहीं उतरता और इसमें वह परेशान हो जाते हैं। ऐसे छात्रों के लिए सफलता लाया है कुछ आसान फार्मूले जो आपकी रिजनिंग को आसान बना देंगे।सबसे पहल उम्मीद वार यह देख लें कि उनके लिए कौन सा टॉपिक आसान है और उसके हिसाब से टॉपिक वाइज तैयारी शुरू कर दें। इसी तरह जो टॉपिक आपको भारी लगते हैं उसको रोज़ बनाएं इससे आपकी कमजोरी कम होती जाएगी जैसे जैसे एग्जाम नजदीक आएगा।परीक्षा में जो सवाल ज्यादा अंक के होते हैं वही सवाल उलझन भी पैदा करते हैं इसलिए ऐसे सवालों को पहले हल करें। किसी भी एग्जाम में स्पीड बहुत मा.ने रखती है उतनी ही महत्ता एक्यूरेसी का होता है दोनों का सरगम होना चाहिए नहीं तो कभी-कभी छात्र स्पीड की चक्कर मे गलतियां कर जाते हैं।

मॉक टेस्ट आज के समय में छात्रों के लिए बहुत कारगर है इससे उन्हें स्पीड भी पता चलता है और एक्यूरेसी भी। छात्र मॉक टेस्ट के जरिए ये भी पता कर सकते हैं कि हमारी तैयारी कहाँ तक हुई है। पिछले साल का प्रश्न पत्र हमेशा महत्वपूर्ण होता है इससे आपको परीक्षा का पैटर्न तो पता चलता ही है साथ ही साथ कुछ सवाल भी पिछले साल के आ जाते हैं।सिर्फ एक किताब पर निर्भर ना रहें कई किताबों को पढ़े उसका नोट बनाएं। हर किताब एक दूसरे से अलग होता है इसलिए हर किताब के बेसिक्स को अच्ठी तरह से समझें।

Other details:

Related Articles:

  • Share: