09 जनवरी, 2018 को ‘प्रथम प्रवासी सांसद सम्मेलन’ (First PIO Parliamentarian Conference) का आयोजन नई दिल्ली में किया गया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस एक दिवसीय सम्मेलन का शुभारंभ किया। इस सम्मेलन का उद्देश्य प्रवासी भारतीयों से संपर्क के जरिए इन देशों से संबंध मजबूत बनाना है। इस सम्मेलन में 23 देशों के 141 सांसदों और मेयरों ने भाग लिया। जिसमें ब्रिटेन, कनाडा, फिजी, केन्या, मॉरीशस, न्यूजीलैंड, श्रीलंका और अन्य देशों से 124 सांसदों ने भाग लिया। जबकि अमेरिका, मलेशिया, स्विट्जरलैंड, गुयाना, त्रिनिदाद एवं टोबैगो सहित अन्य देशों से 17 मेयरों ने भाग लिया। इस आयोजन में दो मुख्य बिंदुओं पर चर्चा हुई।

  First PIO Parliamentarian Conference

जिसमें पहले सत्र का विषय रहा-‘विदेशों में बसे भारतीय मूल के सांसद-संघर्ष का सफर’ और दूसरे भाग में ‘पुनरुत्थानशील भारत विदेशों में बसे भारतीय मूल के सांसदों के योगदान’ पर विशेष चर्चा हुई। गौरतलब है कि देश में प्रतिवर्ष 9 जनवरी को विदेश में बसे भारतीय मूल के लोगों का भारत के विकास में योगदान को रेखांकित करने के लिए ‘प्रवासी भारतीय दिवस’ मनाया जाता है। 

  • Share: