HPSC ( Haryana Public Service Commission )

HPSC ( Haryana Public Service Commission )


हरियाणा लोक सेवा आयोग

  • हरियाणा लोक सेवा आयोग का कार्य अन्य लोक सेवा आयोग की तरह राज्य में भर्ती प्रक्रिया का संचालन करना होता है।
  • आयोग की विभिन्न परीक्षाओं में अलग- अलग पदों का पाठयक्रम, योग्यता भी अलग होती है।

 

  • उम्मीदवार कला, विज्ञान और कॉमर्स में किसी विषय से स्नातक कि डिग्री रखता हो। तथा उम्मीदवार की  आयु 21 से 40 वर्ष होनी चाहिये।
  • एस.सी, पिछडा वर्ग, विशेष रुप से पिछडे़ और आर्थिक रूप से पिछडे़ (सामान्य वर्ग में), हरियाणा की अविवाहित महिला और हरियाणा सरकार के कर्मचारी को 5 वर्ष की आयु में छूट होगी।
  • शारीरिक रुप से विकलांगों को 10 वर्ष (15 वर्ष एस.सी को)। DSP की पोस्ट के लिये आयु 21 से 27 वर्ष होनी चाहिये। तथा निम्न शारीरिक मापदण्ड होना चाहिये।
श्रेणीलम्बाईसीने का फुलाव
पुरुष170.18 से.मी33 "(83.82 से.मी )
महिला157.50 से.मी34.5" (87.63 से.मी)
  • हरियाणा में डी.एस.पी, लेखा अधिकारी, ई.टी., जिला खाद्य एवं आपूर्ति नियंत्रक, सहायक रजिस्ट्रार, असिस्टेंट एक्साइस एंड टेकसेसन ऑफिसर, व्लाक डेवलपमेंट ऑफिसर(‍‍बी.डी.ओ), ट्राफिक मैनेजर, सहायक रोजगार अधिकारी आदि पदों से सम्बन्धित जिम्मेदारियां होती है
  • बिजली, सड़क, लोक व्यवस्था, न्याय व्यवस्था, आपूर्ति व्यवस्था, शिक्षा, कर, बाल और महिला कल्याण एवं एस.सी/एस.टी और पिछडे वर्ग कल्याण से सम्बन्धित कल्याणकारी कार्य से सम्बन्धित जॉब प्रोफाइल होते है।
  • जिलें में प्रत्येक स्थान पर बिजली की आपूर्ति को संचालित करना, सड़क को बनाना और मरम्मत करवाना, नागरिको को भय मुक्त और स्वतंत्र वातावरण देना, न्याय व्यवस्था को संचालित करना, शिक्षा संस्थानों में शिक्षा को सब तक पहुचांना और शिक्षा के स्तर को ऊंचा उठाना ताकि भावी पीढ़ियां अच्छी बने, जिले में कर का संग्रह करना, बाल और महिला कल्याण के कार्य सुचारु रुप से देखना तथा एस.सी/एस.टी और पिछडा वर्ग कल्याण, परिवन, पर्यटन जिला पंचायत आदि से सम्बन्धित कार्यो को पूर्ण करना होता है

 

  • हरियाणा लोक सेवा आयोग द्वारा की जाने वाली भर्तियों में वेतनमान (पे-स्केल) 15600 से 39100 है और ग्रेड-पे 6000 है और 9300 से 34800 वेतनमान पर ग्रेड पे 4200 है जो अलग- अलग सेवा और पदों के लियें भिन्न भी हो सकता है। 

सिविल सेवा में शामिल होने वाले छात्रों के लिए निम्नलिखित अर्हता निर्धारित की गयी हैं-

1. विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (U.G.C) की धारा 1956, द्वारा मान्यता प्राप्त, किसी राज्य अथवा केंद्रीय विश्वविद्यालय, या डीम्ड विश्वविद्यालय द्वारा स्नातक अथवा समकक्ष की डिग्री।

2.एेसे छात्र जो स्नातक अथवा समकक्ष परीक्षा के परिणाम का इंतजार कर रहे हैं या अंतिम वर्ष में हैं, वो प्रारंभिक परीक्षा में बैठ सकते है। लेकिन मुख्य परीक्षा में शामिल होने के पूर्व उन्हें आवेदन पत्र के साथ न्यूनतम शैक्षणिक योग्यता की डिग्री संलग्न करना आवश्यक है ।

3. विशेष परिस्थिति में आयोग एेसे छात्रों को भी परीक्षा में बैठने की अनुमति दे सकता है जो निर्धारित योग्यता धारण नहीं करते हैं लेकिन आयोग की नजर में उनकी डिग्री न्यूनतम शैक्षणिक योग्यता के समकक्ष है ।

4. पेशेवर और तकनीकी योग्यता वाले छात्र भी इस परीक्षा में शामिल हो सकते हैं ।

5. एेसे अभ्यर्थी जो M.B.B.S के Final में हैं या जिनकी इंटर्नशिप अभी पूरी नहीं हुई है वो भी सिविल सेवा मुख्य परीक्षा में शामिल हो सकते हैं। लेकिन साक्षात्कार के दौरान उन्हें पूरी डिग्री साक्षात्कार बोर्ड के समक्ष रखनी पड़ती है । 

 

 

  • एग्जाम पैटर्न


हरियाणा लोक सेवा आयोग की परीक्षा के तीन चरण है-

  • प्रारम्भिक परीक्षा( वस्तुनिष्ठ और बहुविकल्पीय)
  • मुख्य परीक्षा (व्याख्यात्मक, लिखित)
  • साक्षात्कार

  • प्रारम्भिक परीक्षा पास करने वाले उम्मीदवारो का मुख्य परीक्षा के लिये चयन आयोग द्वारा निकाली रिक्तियों की संख्या का 15 गुना होगा।
  • मुख्य परीक्षा पास करने पर साक्षात्कार के लिये रिक्तियों के 3 गुना लोगों को चुना जायेगा। प्रश्नपत्र हिन्दी और अंग्रेजी दोनों में छपा होगा।
  • प्रारम्भिक परीक्षा में वस्तुनिष्ठ एवं बहुविकल्पी प्रकार के दो प्रश्न पत्र होंगे। प्रारम्भिक परीक्षा केवल छंटनी के लिए आयोजित की जाने वाली परीक्षा हैं प्रारंभिक परीक्षा 200 अंक की होगी।
  • पहला प्रश्नपत्र सामान्य अध्ययन का होगा, जो 100 अंकों का होंगे।
  • दूसरा प्रश्नपत्र, अब सिविल सेवा ऐप्टीट्यूड टेस्ट का होगा। इसके लिए भी 100 अंक होंगे, जिसमें परिज्ञान, सूचना, कौशल सहित अंतर वैयक्तिक कौशल, तार्किक विवेचन तथा विश्लेषणात्मक योग्यता, निर्णय योग्यता एवं समस्या समाधान, सामान्य मानसिक योग्यता, आधारभूत संख्यात्मक, डाटा व्याख्या शामिल हैं।
  • प्रत्येक गलत जवाब के लिए 0.25 अंक काटे जाएंगे। मुख्य परीक्षा 600 अंक की होगी। और साक्षात्कार परीक्षण 75 अंक का होगा।
प्रारम्भिक परीक्षा के प्रश्नपत्र अंकसमयावधि
सामान्य अध्ययन1002 घंटे 
सीसैट1002 घंटे 

 

जो उम्मीदवार प्राथमिक परीक्षा में सफल होंगे, उनकी मुख्य परीक्षा 200 अंकों की आयोजित की जाएगी।

प्रश्नपत्र का नाम अंकसमयावधि
अंग्रेजी और अंग्रेजी निबन्ध1003 घंटे
हिन्दी और हिन्दी निबन्ध1003 घंटे
सामान्य अध्ययन1003 घंटे
वैकल्पिक विषय I1503 घंटे
वैकल्पिक विषय II1503 घंटे
साक्षात्कार753 घंटे
कुल675 

एग्जाम में सफल होने के लिए रणनीति, सुझाव और तरकीब

पाठ्यक्रम


1. कृषि
2.पशुपालन
3.वनस्पति विज्ञान
4.रसायन विज्ञान
5.सिविल इंजीनियरिंग।
6.व्यापार
7.अर्थशास्त्र
8.इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग।
9.भूगोल
10.भारतीय इतिहास
11.विधि
12.गणित
13.मैकेनिकल इंजीनियरिंग
14.भौतिक विज्ञान
15.राजनीति विज्ञान
16.मनोविज्ञान
17.लोक प्रशासन।
18.नागरिक सास्त्र
19.प्राणि विज्ञान 

 

 1.कृषि
2.पशुपालन
3.वनस्पति विज्ञान
4.रसायन विज्ञान
5. सिविल इंजीनियरिंग।
6. वाणिज्य एवं लेखा
7. अर्थशास्त्र
8. इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग
9. अंग्रेजी साहित्य
10. भूगोल
11. हिंदी साहित्य
12. भारतीय इतिहास
13. विधि
14. गणित
15. मैकेनिकल इंजीनियरिंग।
16. भौतिकी
17. राजनीति विज्ञान
18. मनोविज्ञान
19. लोक प्रशासन
20. पंजाबी साहित्य
21. समाजशास्त्र
22 संस्कृत साहित्य
23. प्राणी विज्ञान 

अंग्रेजी की समझ और अंग्रेजी लिखने की क्षमता का आंकलन करने वाले प्रश्न, प्रेसी राइटिंग व्याख्या, वोकेबलरी, और अन्य कम्पोजिशन जो इसके लिये उपयोगी हो प्रश्न में आयेगें।

हिन्दी से अंग्रेजी में अनुवाद करना।
हिन्दी के पैसेज की गद्य और कविता में व्याख्या (समान भाषा में)।
संयोजन (मुहावरों, भूल-सुधार आदि) 

इसमें वर्तमान घटनाओं की जानकारी और उनके वैज्ञानिक आंकलन की योग्यता को जांचा जाता है साथ ही हरियाणा से सम्बन्धित इतिहास, भूगोल, अर्थव्यवस्था की जानकारी से संबंधित प्रश्न आते हैं।