सेंट्रल रेलवे का माटुंगा रेलवे स्टेशन देश का पहला ऐसा रेलवे स्टेशन है जो पूरी तरह महिलाओं द्वारा संचालित है और इसके लिए माटुंगा का नाम लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड 2018 में दर्ज कर लिया गया है। इस स्टेशन की टीम में स्टेशन मैनेजर, पॉइंट पर्सन, बुकिंग स्टाफ, टिकट चेकर, आदि सभी महिलाएं हैं। 12 जुलाई 2017 को औपचारिक रूप से स्टेशन को इन महिला कर्मियों को सौंप दिया गया था। मध्य रेलवे के मुंबई डिवीजन ने कुल 41 महिलाओं को नियुक्त किया है, जिनमें से 17 बुकिंग क्लर्क, 6 रेलवे सुरक्षा बल कर्मी, 8 टिकट निरीक्षक, 5 खलासी, 2 उद्घोषक और 2 सफाई कर्मचारी शामिल हैं। ये सभी स्टेशन मास्टर ममता कुलकर्णी के नेतृत्व में काम कर रही हैं।

Matunga Railway Station recorded in Limca Book of Records

उल्लेखनीय है कि मध्य रेलवे के मुंबई डिवीजन में 1992 में सहायक स्टेशन मास्टर के रूप में भर्ती होने वाली ममता कुलकर्णी माटुंगा रेलवे स्टेशन की पहली महिला स्टेशन मास्टर बन गयी हैं। ममता जब 1992 में सेंट्रल रेलवे में आई थीं तब वह खुद भी मुंबई डिविजन में स्टेशन मास्टर बनने वाली पहली महिला थीं।

  • Share: