मल्टीपर्पज हेल्थ वर्कर बन संवारिए स्वास्थ्य

मल्टीपर्पज हेल्थ वर्कर (multipurpose health worker) को आसान शब्दों में स्वास्थ्य क्षेत्र से जुड़े सेवाभावी समझा जा सकता है। इसके लिए शैक्षणिक योग्यता से अधिक महत्वपूर्ण होता है सेवा करने का जज्बा। इस क्षेत्र में काम करने के ‌लिए 12वीं पास ऐसे नौजवानों की जरूरत होती है जो कठिन से कठिन परिस्थिति में भी सेवा देने के लिए तैयार और तत्पर रहें। किसी समय पर महामारी फैलने, बाढ़ग्रस्त इलाकों या फिर किसी अन्य आपात स्थिति में इनकी भूमिका काफी महत्वपूर्ण हो जाती है। जब हॉस्पिटल और डॉक्टरों से मरीजों का संपर्क टूट जाता है तब मल्टीपर्पज हेल्थ वर्कर के माध्यम से ही स्वास्थ्य सेवाएं मुहैया कराई जाती है।

जेंडर जैसी कोई सीमा नहीं
मल्टीर्पज हेल्थ वर्कर मेल (multipurpose health worker male) और मल्टीर्पज हेल्थ वर्कर फीमेल (multipurpose health worker female) दोनों हो सकती हैं अर्थात यहां जेंडर जैसी कोई सीमा नहीं है। प्रशिक्षण के दौरान इन्हें मरीजों और डॉक्टरों के बीच संपर्क स्‍थापित करने की कला में माहिर बनाया जाता है। प्रमुख रोल की बात करें तो मरीज को उनकी बीमारी के बारे में अवेयर करने, उन्हें समय पर भोजन और दवाई आदि देने से लेकर उनके रहने के स्थान की स्वच्छता तक इनके जिम्मे होता है।

‌कितनी होगी आमदनी (multipurpose health worker salary)
मल्टीपर्पज हेल्थ वर्कर के रूप में पहचान पाने के लिए किसी भी स्ट्रीम से 12वीं पास युवा मल्टीपर्पज हेल्थ वर्कर कोर्स (multipurpose health worker course) कर सकते हैं। इसके लिए दिल्ली, हरियाणा, चंडीगढ़ में नामी संस्थान मौजूद हैं। इसमें डिप्लोमा कोर्स कराया जाता है। मल्टीपर्पज हेल्थ वर्कर जॉब (multipurpose health worker recruitment) की जहां तक बात है तो कोर्स पूरा करने के बाद एनजीओ, निजी एवं सरकारी संस्थाओं में नौकरी मिलती है। प्राकृतिक आपदाओं के बढ़ते घटनाओं के चलते भी इनकी मांग में बढोतरी देखी जा रही है। आमदनी के तौर पर (multipurpose health worker salary) मल्टीपर्पज हेल्थ वर्कर को शुरुआती दौर में निजी क्षेत्र में जहां 15,000 से 20,000 रुपये की नौकरी और सरकारी हॉस्पिटलों में ग्रुप सी की नौकरी ऑफर की जाती है।

September 2, 2017

Copyright 2017 © AMARUJALA.COM. All rights reserved.