माइक्रोबायोलॉजी में पीजी डिप्लोमा करके संवारें अपना भविष्य

  • Share:

Highlights

  • सूक्ष्म जीवाणुओं का पता माइक्रोबायोलॉजिस्ट द्वारा किया जाता है।

  • यह कोर्स करने के लिए मान्यताप्राप्त विश्वविद्यालय से बायोलॉजी से स्नातक उत्तीर्ण होना आवश्यक है।

  • पीजी डिप्लोमा इन माइक्रोबायोलॉजी का कोर्स करने के बाद आप डेयरी प्रोडक्ट्स, लैबोरेट्री, निजी या सरकारी क्षेत्र, फार्मास्यूटिकल, क्लीनिक आदि क्षेत्रों में अपना करियर बना सकते हैं।

  • आउट ऑफ बॉक्स इनोवेटिव आइडियाज पर काम करने वाला व्यक्ति ही इस क्षेत्र में सफलता पाता है।

Career in Microbiology

माइक्रोबायोलॉजी, बायोलॉजी की ही एक शाखा है। आज विश्व में अनेक प्रकार की नई नई बीमारियां सामने आ रहीं हैं, जो की अधिकतर सूक्ष्म जीवाणुओं के कारण उत्पन्न हो रहीं हैं, जिनमें से बहुत से सूक्ष्म जीवाणुओं का पता अभी लगाया जाना बाकी है। इन जीवाणुओं का पता माइक्रोबायोलॉजिस्ट द्वारा किया जाता है। यदि आप की रुचि इस क्षेत्र में है, तो आप एक वर्ष का माइक्रोबायोलॉजी में पीजी डिप्लोमा करके अपना करियर बना सकते हैं…

महत्वपूर्ण संस्थान

  • गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज, भावनगर (www.bvnmedicol.org)
  • ऑल इंडिया इंस्टिट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज, दिल्ली (www.aiims.edu)
  • क्रिस्चियन मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल, वेल्लोर (www.cmch-vellore.edu)
  • आर्म्ड फोर्सेज मेडिकल कॉलेज, पुणे (www.afmc.nic.in) 

आवश्यक योग्यताएं
मान्यताप्राप्त विश्वविद्यालय से बायोलॉजी से स्नातक उत्तीर्ण होना आवश्यक है। 

कोर्स की अवधिः 12 माह

कहां मिलेंगी नौकरियां 
पीजी डिप्लोमा इन माइक्रोबायोलॉजी का कोर्स करने के बाद युवाओं के पास अवसरों की कोई कमी नहीं होगी क्योंकि आप किसी साइंटिस्ट के साथ माइक्रोबायलोजिस्ट के रूप में रिसर्च वर्क कर सकते हैं। पीजी डिप्लोमा इन माइक्रोबायोलॉजी का कोर्स करने के बाद आप डेयरी प्रोडक्ट्स, लैबोरेट्री, निजी या सरकारी क्षेत्र, फार्मास्यूटिकल, क्लीनिक आदि क्षेत्रों में अपना करियर बना सकते हैं।

कमा सकते हैं लाखों रुपये
माइक्रोबायोलॉजी में पीजी डिप्लोमा (pg diploma in microbiology) करने के बाद आपको शुरुआत में एक फ्रेशर के तौर पर 15,000 से 20,000 रुपये प्रतिमाह मिलेंगे एवं इस क्षेत्र में जैसे-जैसे आपका एक्सपीरियंस और एक्सपर्टाइज बढ़ती जाएगी वैसे-वैसे आपकी सैलरी भी बढ़ती जाएगी। इसके अलावा आप अपनी इंडिपेंडेंट लैबोरेट्री भी खोल सकते हैं और लाखों रुपये प्रति वर्ष कमा सकते हैं।

अन्य अपेक्षाएं 
यदि आपको माइक्रोबायोलॉजी में करियर बनाना है तो आपको अपने ज्ञान को सही जगह पर इस्तेमाल करना आना चाहिए। आउट ऑफ बॉक्स इनोवेटिव आइडियाज पर काम करने वाला व्यक्ति ही इस क्षेत्र में सफलता पाता है और इसके साथ ही आपकी सोचने की क्षमता मजबूत होनी चाहिए। माइक्रोबायलोजिस्ट के रूप में आपको टेक्नोलॉजी में दक्ष होना अति आवश्यक है। 

Other details:

Related Articles:

  • Share: