रानु लंगथासा को 13 जून, 2016 को उत्तरी कछार हिल्स स्वायत्त परिषद (एनसीएचएसी) का अध्यक्ष चुन लिया गया है। इस महत्वपूर्ण निर्णय की विशेषता यह है कि वे 1950 से लेकर अब तक के इतिहास में इस परिषद की पहली महिला हैं।

उत्तरी कछार हिल्स स्वायत्त परिषद (एनसीएचएसी)
  • इसमें लघु विधानसभा, कार्यपालिका और न्यायपालिका की तरह एक सरकार के सभी अंग मौजूद हैं।
  • संविधान की छठी अनुसूची के अनुसार 29 अप्रैल, 1952 को दीमा हासो जिला परिषद् एक स्वायत्त परिषद के रूप में उभरा।
  • इसके पास भूमि, राजस्व, प्राथमिक शिक्षा, प्रथागत कानून आदि पर पूर्ण अधिकार था।
  • उपायुक्त जिले के मुखिया के रूप में सिविल प्रशासन एवं कानून व्यवस्था चलाता है।
  • आरंभ में परिषद् 12 निर्वाचित सदस्यों, 4 नामांकित सदस्यों एवं एक सचिव सहित स्वायत्त संस्था के रूप में कार्यरत था।ए‌क नजर इतिहास पर
  • उत्तरी कछार हिल्स के स्वायत्त परिषद घोषित किए जाने से पहले डोइमा हासो जिला दिमासा शासन के अधीन था।
  • ब्रिटिश काल से पूर्व इसका पूरे कछार क्षेत्र में आधिपत्य स्थापित था, इसमें नागांव जिला एवं दीमापुर से लेकर नीचू गार्ड तक का क्षेत्र शामिल थे।
  • वर्ष 1830 में दिमासा के राजा महाराजा गोविंदा चंद्र नारायण की हत्या के बाद 15 अगस्त, 1832 को दिमासा साम्राज्य, ब्रिटिश साम्राज्य के अधीन हो गया।
capsul samaiki logo
 करेंट अफेयर्स पर आधारित डेली कैप्सूल पर जाने के लिए क्लिक करें   करेंट अफेयर्स पर आधारित मासिक पत्रिकाओं पर जाने के लिए क्लिक करें

Other details:

Related Articles:

  • Share: