BPSC(Bihar Public Service Commission)


बिहार लोक सेवा आयोग, पटना

  • वर्तमान रूप में बिहार लोक सेवा आयोग की स्थापना 01 अप्रैल, 1949 को की गयी थी।
  • बिहार लोक सेवा आयोग संविधान के अनुच्छेद 315 के तहत एक सांविधानिक संस्था है।
  • बिहार लोक सेवा आयोग ने अपना सर्वप्रथम रांची स्थित मुख्यालय से अपना कार्यसंपादन प्रारंभ किया था।
  • पहली बार वर्ष 1951 में राज्य सरकार द्वारा आयोग के मुख्यालय को रांची से पटना स्थानांतरित किया गया।
  • बिहार लोक सेवा आयोग के प्रथम अध्यक्ष राजनधारी सिन्हा थे।

 

 

 

 

bpsc

  • यहां पर प्रशासनिक सेवा में शैक्षणिक योग्यता में उम्मीदवारों के पास किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से स्नातक या स्नातकोत्तर डिग्री होनी चाहिए।
  • आयु सीमा की न्यूनतम उम्र 21 वर्ष है और अधिकतम उम्र 37 वर्ष है तथा राज्य में विकलांगों को 10वर्ष की छूट निर्धारित है। इस संबंध में अधिकतम छूट के प्रावधान निम्नप्रकार है-   
  • सामान्य श्रेणी-37 वर्ष अधिकतम
  • ओबीसी श्रेणी-40 वर्ष अधिकतम
  • एससी/एसटी श्रेणी- 42वर्ष अधिकतम
  •  प्रशासनिक जिम्मेदारियों में बिजली, सड़क, लोक व्यवस्था, न्याय व्यवस्था, आपूर्ति व्यवस्था, शिक्षा, कर, बाल और महिला कल्याण एवं एस.सी/एस.टी और पिछडा वर्ग कल्याण, पर्यटन, ग्रामीण विकास, परिवहन आदि पदों से सम्बन्धि कार्य की जिम्मेदारियां होती है

  • बिहार लोक सेवा आयोग द्वारा की जाने वाली भर्तियों में वेतनमान (पे-स्केल) 15600 से 39100 है और ग्रेड-पे 5400 है जो अलग- अलग सेवा और पदों के लियें भिन्न भी हो सकता है।

 

सिविल सेवा में शामिल होने वाले छात्रों के लिए निम्नलिखित अर्हता निर्धारित की गयी हैं-

1. विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (U.G.C) की धारा 1956, द्वारा मान्यता प्राप्त, किसी राज्य अथवा केंद्रीय विश्वविद्यालय, या डीम्ड विश्वविद्यालय द्वारा स्नातक अथवा समकक्ष की डिग्री।

2.एेसे छात्र जो स्नातक अथवा समकक्ष परीक्षा के परिणाम का इंतजार कर रहे हैं या अंतिम वर्ष में हैं, वो प्रारंभिक परीक्षा में बैठ सकते है। लेकिन मुख्य परीक्षा में शामिल होने के पूर्व उन्हें आवेदन पत्र के साथ न्यूनतम शैक्षणिक योग्यता की डिग्री संलग्न करना आवश्यक है।

3. विशेष परिस्थिति में आयोग एेसे छात्रों को भी परीक्षा में बैठने की अनुमति दे सकता है जो निर्धारित योग्यता धारण नहीं करते हैं लेकिन आयोग की नजर में उनकी डिग्री न्यूनतम शैक्षणिक योग्यता के समकक्ष है।

4. पेशेवर और तकनीकी योग्यता वाले छात्र भी इस परीक्षा में शामिल हो सकते हैं।

5.एेसे अभ्यर्थी जो M.B.B.S के Final में हैं या जिनकी इंटर्नशिप अभी पूरी नहीं हुई है वो भी सिविल सेवा मुख्य परीक्षा में शामिल हो सकते हैं।  लेकिन साक्षात्कार के दौरान उन्हें पूरी डिग्री साक्षात्कार बोर्ड के समक्ष रखनी पड़ती है।

 

 

एग्जाम पैटर्न


बिहार लोक सेवा आयोग द्वारा सिविल सेवा की परीक्षा एक निश्चित अंतराल पर तीन चरणों में आयोजित की जाती है जो इस प्रकार हैं--

  • प्रारम्भिक परीक्षा( वस्तुनिष्ठ और बहुविकल्पी)
  • मुख्य परीक्षा (व्याख्यात्मक, लिखित)
  • साक्षात्कार

  • प्रारंभिक परीक्षा में 150 प्रश्न पूछे जाते हैं। प्रत्येक प्रश्न 1 अंक का होता है।
  • इस परीक्षा में पूछे जाने वाले सभी प्रश्न वैकल्पिक प्रकृति के होते हैं।
  • यह परीक्षा क्वालिफाइंग होगी। प्रारंभिक परीक्षा की समयावधि 120 मिनट या 2 घंटे होगी।
क्र. खंड विषयप्रश्नों की संख्या   अंकसमयावधि
1सामान्य अध्ययन    150   150

120 मिनट या 2 घंटे 

 

विषय     अंक   समयावधि
सामान्य हिन्दी     100 ( 30 अंक क्वालीफाइंग  के लिये)  3 घण्टे
सामान्य अध्ययन प्रथम     200  3 घण्टे
सामान्य अध्ययन द्वितीय     200  3 घण्टे
 प्रथम वैकल्पिक प्रश्न पत्र   200×2  3 घण्टे प्रत्येक प्रश्न पत्रों में
द्वितीय वैकल्पिक प्रश्न पत्र   200×2  3 घण्टे प्रत्येक प्रश्न पत्रों में
  •  मुख्य परीक्षा में कुल चार प्रश्न पत्र होते है  जिसके प्रथम प्रश्न पत्र, सामान्य हिन्दी में कम से कम 30 अंको से पास करना आवश्यक होता है।
  • इस प्रश्न पत्र की प्रकृति क्वालिफाइंग होती है अत: इस प्रश्न पत्र के अंक मुख्य परीक्षा में प्राप्त कुल अंको में नहीं जोड़ा जाता हैं।
  • सामान्य अध्ययन के प्रश्न पत्र को दो भागों में बाँटा गया है जबकि दोनों प्रश्न पत्रों में कुल तीन भाग होते हैं।
  • प्रत्येक प्रश्न पत्र अधिकतम 200 अंको का है एवं इसके लिए 3 घंटे का समय निर्धारित किया गया है। प्रत्येक प्रश्न पत्र से 12 प्रश्न पूछे जाते हैं।

  • बीपीएससी की मुख्य परीक्षा उत्तीर्ण करने वाले अभ्यर्थियों को साक्षात्कार के लिए बुलाया जाता है। साक्षात्कार कुल 150 अंको का होता है। साक्षात्कार में उत्तीर्ण अभ्यर्थी ही अंतिम रूप से चयन के योग्य होते हैं। 

3

जॉब अलर्ट और समाचार

+

एग्जाम में सफल होने के लिए रणनीति, सुझाव और तरकीब

{"first_class":"1","title":"\u090f\u0917\u094d\u091c\u093e\u092e \u092e\u0947\u0902 \u0938\u092b\u0932 \u0939\u094b\u0928\u0947 \u0915\u0947 \u0932\u093f\u090f \u0930\u0923\u0928\u0940\u0924\u093f, \u0938\u0941\u091d\u093e\u0935 \u0914\u0930 \u0924\u0930\u0915\u0940\u092c","show_title":"1","post_type":"post","taxonomy":"","term":"","post_ids":"17164","course_style":"recent","featured_style":"side","masonry":"0","grid_columns":"clear1 col-md-12","column_width":"200","gutter":"30","grid_number":"1","infinite":"0","pagination":"1","grid_excerpt_length":"100","grid_link":"1","css_class":"","container_css":"","custom_css":""}

पाठ्यक्रम


सामान्य अध्ययन के प्रश्न पत्र में पूछे जाने वाले प्रश्न आधुनिक इतिहास, भूगोल, कला एवं संस्कृति, ग्राफ एवं चित्र सांख्यिकी विश्लेषण, भारतीय राजव्यवस्था, भारतीय अर्थव्यवस्था आदि क्षेत्रों से होते हैं। वैकल्पिक प्रश्नपत्रों में अभ्यर्थियों को किन्हीं दो वैकल्पिक प्रश्नों को चुनने आवश्यक होते हैं प्रत्येक वैकल्पिक विषय  के कुल 400 अंक होते  है जिनमें दो प्रश्न होते हैं (प्रत्येक प्रश्न पत्र 200 अंको का होता है) मुख्य परीक्षा कुल 1200 अंको की होगी।

अभ्यर्थी गण नीचे दिए गए विकल्पों में से अपने दो वैकल्पिक विषय चुन सकते हैं जो इस प्रकार हैं-

कृषि
मानव विज्ञान
रसायन विज्ञान
पशुपालन और पशु चिकित्सा विज्ञान
वनस्प‍ति विज्ञान
सिविल अभियंत्रण
वाणिज्य शस्त्र और लेखा विधि
अर्थशास्त्र
गणित
विधुत इंजीनियरिंग
श्रम एवं समाज कल्याण
भूगोल
भूगर्भशास्त्र
इतिहास
विधि
प्रबंधन
यांत्रिक इंजीनियरिंग
दर्शन
भौतिकी
राजनीतिक विज्ञान और अंतरराष्ट्रीय संबंध
मनोविज्ञान
लोक प्रशासन
समाज सास्त्र
सांख्यकी
प्राणी विज्ञान।
हिन्दी भाषा और साहित्य
संस्कृत भाषा और साहित्य
अरबी भाषा और साहित्य
उर्दू भाषा और साहित्य
अंग्रेजी भाषा और साहित्य
फारसी भाषा और साहित्य
बंगाली भाषा और साहित्य
पाली भाषा और साहित्य

*उम्मीदवारों को निम्न विषयों को एक साथ लेने की अनुमति नहीं है

वाणिज्य शस्त्र और लेखा विधि तथा प्रबंधन
राजनीतिक विज्ञान और अंतरराष्ट्रीय संबंध तथा लोक प्रशासन
मानव विज्ञान तथा समाज शास्त्र
गणित तथा सांख्यकी
कृषि तथा पशुपालन और पशु चिकित्सा विज्ञान
विधुत इंजीनियरिंग,यांत्रिक इंजीनियरिंग,सिविल अभियंत्रण विषयों में से कोई एक विषय
भाषा विषयों तथा हिन्दी, अंग्रेजी, उर्दू, बंगाली, अरबी, फारसी, संस्कृत, पाली, में से किसी एक विषय को ले सकते है

 

 

सवाल और जवाब


Viewing 5 topics - 1 through 2 (of 13 total)
Viewing 5 topics - 1 through 2 (of 13 total)
Create New Topic in “STATE PCS”
Your information:





आगामी परीक्षा के लिए खुद को परखें 

हल पेपर ( Previous years solved papers )

ई बुक्स

मॉक टेस्ट

स्टडी किट

Copyright 2017 © AMARUJALA.COM. All rights reserved.