Arun Jaitley

Union Budget 2018-19: Learn the key features regarding Education and Employment

Finance Minister Arun Jaitley presented the budget 2018-19 in the Lok Sabha on February 01, 2018. He presented the fifth consecutive budget of the Modi government in the Lok Sabha. In the General Budget 2018-19, Finance minister Arun Jaitley announced many schemes and policies for Education and Employment. He also announced many new projects for Railways as well. You can find the key features of the Union Budget 2018 here.

  • Jan
  • 03
  • 2018

सीबीईसी का नाम बदल कर रखा जाएगा सीबीआईसी

केंद्रीय वित्त एवं कॉरपोरेट मामलों के मंत्री अरुण जेटली ने 01 फरवरी, 2018 को संसद में आम बजट 2018-19 पेश करते हुए सीमा शुल्क अधिनियम 1962 में कुछ संशोधनों की घोषणा की । इस घोषणा के अनुसार केंद्रीय उत्पाद एवं सीमा शुल्क बोर्ड (सीबीईसी) का नाम बदल कर केंद्रीय अप्रत्यक्ष कर एवं सीमा शुल्क बोर्ड (सीबीआईसी) रखा जाएगा।

  • Jan
  • 02
  • 2018

Budget 2018: What becomes cheaper & what becomes costly

On 01 Feb 2018, Finance Minister Arun Jaitley presented 'New India's Budget'. In his budget speech, he pleased farmers, poor, youth, housewives and entrepreneurs. PM Modi announced in his speech that by 2022, the government will double the income of the farmers. Some things have become cheaper in this budget, while some have become expensive.

  • Jan
  • 02
  • 2018

बजट 2018 जानें क्या हुआ सस्ता, क्या हुआ मंहगा

01 फरवरी, 2018 को वित्तमंत्री अरुण जेटली ने 'न्‍यू इंडिया का बजट' पेश किया। अपने बजट भाषण में वे किसान, गरीब, युवा, गृहणी तथा उद्यमी को सौगात बांटते नजर आए। वित्तमंत्री जेटली ने किसानों को लागत मूल्‍य से 50 फीसदी ज्‍यादा देने की घोषणा की है। पीएम मोदी ने अपने भाषण में कहा था कि ‍वर्ष 2022 तक हम किसानों की आमदनी को दुगना कर देंगे। इस बजट में कुछ चीजें सस्ती हुई तो कई के लिए आम लोगों को अब ज्यादा खर्च करना होगा।

  • Jan
  • 02
  • 2018

आम बजट 2018-19 : भारतीय रेल के लिए 1 लाख 48 हजार करोड़

वित्तमंत्री अरुण जेटली ने रेलवे के लिए कुल 1 लाख 48 हजार करोड़ का कुल बजट पास किया। रेल बजट में मुंबई के लिए 90 किलोमीटर पटरी का विस्तार होगा। मुंबई में लोकल रेल का दायरा भी बढ़ाया जाएगा।

  • Jan
  • 01
  • 2018

जानें क्या खास है शिक्षा और रोजगार के लिए आम बजट 2018-19 में

वित्तमंत्री अरुण जेटली ने 01 फरवरी, 2018 को लोकसभा में बजट 2018-19 पेश किया। वित्त मंत्री अरुण जेटली लोकसभा में मोदी सरकार का लगातार पांचवां बजट पेश कर रहे हैं। आम बजट 2018-19 में शिक्षा और रोजगार को लेकर निम्न घोषणाएं हुई

  • Jan
  • 01
  • 2018

वित्तमंत्री अरुण जेटली ने पेश किया बजट 2018-19

वित्तमंत्री अरुण जेटली ने 01 फरवरी, 2018 को लोकसभा में बजट 2018 पेश किया। वित्त मंत्री अरुण जेटली लोकसभा में मोदी सरकार का लगातार पांचवां बजट पेश कर रहे हैं। आम बजट के साथ ही रेल बजट को भी साथ में ही पेश किया गया है। पहले रेल बजट और आम बजट अलग - अलग पेश किया जाता था, परंतु मोदी सरकार ने इस परंपरा को 2017 में खत्म कर दिया। अब आम बजट और रेलवे बजट एक साथ पेश किये जाते हैं। 

  • Jan
  • 01
  • 2018

Budget 2018 Live Updates: Check Everything You Need To Know Here

Union Finance Minister Arun Jaitley is currently announcing the Union Budget 2018. We are providing you the latest updates on tax slabs, railway budget and much more to keep your pace up. Check the key points of Live Union Budget 2018 here:

  • Jan
  • 01
  • 2018

Goods and Services Tax slashed for over 200 items, Eating out might get cheaper

Eating out might get cheaper after 15 Nov as the Finance Minister Arun Jaitley has declared a reduction in GST rates on over 200 items. The initial GST rates for air-conditioned restaurants was 18% and for non ac restaurants was 12% but now it has been slashed down to 5% on all food items. VAT (Value Added Tax) will continue to be charged for alcohol. Alcohol still does not follow under GST.     The President of Delhi Hotel and Restaurant Owner's Association Sandeep Khandelwal has welcomed the new tax rates as this may encourage people to enjoy restaurants and pay taxes. People ...

  • Jan
  • 11
  • 2017

'द हिंदू' संपादकीय (एडिटोरियल) 1 सितम्बर, 2017

Editorials of leading newspapers is provided in Hindi to help students prepare for competitive exams. पाला बदल करनाः विमुद्रीकरण काले धन पर लगाम कसने में पूरी तरह विफल रहा यह आधिकारिक है। विमुद्रीकरण काले धन पर लगाम कसने में पूरी तरह विफल हो गया है जो कि इसका घोषित लक्ष्य था 8 नवंबर, 2016 को जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश को बताया कि आज की मध्यरात्रि से 500 रुपये और 1,000 रुपये के मुद्रा नोट वैध लेनदेन के लिए रोक दिए जाएंगे तब उन्होंने जाहिर तौर पर बताया था कि इसका उद्देश्य भ्रष्टाचार और काले धन पर रोक लगाना है। यह ...

  • Jan
  • 02
  • 2017