Central Teacher Eligibility Test(CTET)


केन्द्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा

  • केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा (CTET/सीटीईटी) सीबीएसई द्वारा आयोजित पात्रता परीक्षा है।
  • यह स्कूलों में अध्यापकों की पात्रता के लिये है।
  • स्कूलों में छह से 14 वर्ष के बच्चों को मुफ्त एवं अनिवार्य शिक्षा का अधिकार कानून के तहत शिक्षकों की कमी को पूरा करने और गुणवत्ता सुनिश्चित करने के उद्देश्य से स्कूलों में शिक्षकों की पात्रता परीक्षा का आयोजन किया जाता है।
  • इसके तहत शिक्षकों की दक्षता, बुद्धिमता और योग्यता के साथ प्राथमिक एवं उच्च प्राथमिक स्तर पर चुनौतियों से निपटने में उनकी क्षमता का आकलन किया जाता है।

 

 

 CTET परीक्षा, सितंबर 2016 का ADMIT CART डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें।

CTET-LOGO

  • सीबीएसई परीक्षा छंटाई नियम के अनुसार ओएमआर उत्तर-पुस्तिका सहित केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा के अभिलेख, परीक्षा के परिणाम की घोषणा की तिथि के 02 माह की अवधि तक संरक्षित रखे जाते हैं।
  • इसके बाद छंटाई नियमानुसार इसका निपटारा किया जाता है।
  • शिक्षा के अधिकार अधिनियम 2009 के अनुसार शिक्षक एवं छात्र के अनुपात 1: 30 को राष्ट्रीय स्तर पर पूरा करने के लिए देश में बहुत बड़ी संख्या में नए शिक्षको की भर्ती की आवश्यकता है।
  • इस तरह वर्तमान समय में शिक्षक के रूप में करियर बनाना रोजगार के दृष्टिकोण से अधिक सुरक्षित माना जाता है।
  • निश्चित रूप से यह चुनौतीपूर्ण कार्य है और मौजूदा परिदृश्य में समाज की शिक्षक से बहुत अपेक्षाएं हैं।
  • वर्तमान समय में जब मूल्यों का पतन हो रहा है और शिक्षा एक व्यवसाय का रूप धारण कर रही है।
  • संवैधानिक प्रावधानों के बावजूद समाज का एक बड़ा वर्ग इस मौलिक अधिकार से वंचित हो रहा है।ऐसे में शिक्षक की भूमिका महत्त्वपूर्ण हो जाती है।
  • सीटेट के बारे में सूचना: केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा (सीटेट) सरकार और निजी क्षेत्र में भी शिक्षकों के चयन के लिए हर साल सीबीएसई द्वारा आयोजित किया जाता है।
  • हर सीटीईटी छात्र को केंद्र शासित प्रदेशों में विभिन्न विभाग में चयन के लिए सीटेट परीक्षा पास करनी आवश्यक है.
  • दिल्ली सरकार ने भी अपने एमसीडी, केवीएस और एनवीएस स्कूलों में नयी भर्ती के लिए सीटेट परीक्षा पास करनी अनिवार्य कर दी है।
  • यह स्पष्ट करना आवश्यक है कि विभिन्न शिक्षण रिक्ति प्रपत्रों को भरने के लिए पात्र होने के लिए सीटेट पास करना आवश्यक है।

  • देश के विभिन्न भागों में केन्द्रीय विद्यालयों में टीचरों का वेतनमान पीजीटी, टीजीटी, और पीआटी के अनुसार निर्धारित है।

  • इस रोजगार पद पर आवेदन करने के लिए शैक्षणिक योग्यता किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय या संस्था से किसी भी विषय में परास्नातक की डीग्री  होनी चाहिए।

 

 

एग्जाम पैटर्न


  • केन्द्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा में कुल दो पेपरों की परीक्षा होती है।
  • जिसमें पहला पेपर कक्षा 1 से 5 के लिये और दूसरा पेपर कक्षा 6 से 8 के शिक्षकों के लिये होता है। दूसरा पेपर भी दो भागों में कक्षा 6 से 8 के  कला एवं विज्ञान के शिक्षको में विभाजित हो जाता है।
  • जिसमें सभी प्रश्न बहुविकल्पीय प्रकार के होंगे। परीक्षा की अवधि 150 मिनट अर्थात ढाई घंटे की होगी।
  • जिसका विवरण निम्नलिखित पेपर I और पेपर II  है-:

 

 

क्र. सं.
विषय प्रश्नों की संख्याअंकसमयावधि
1.पेपर -I150150150  मिनट
2.पेपर -II150150150  मिनट

3

जॉब अलर्ट और समाचार

+

एग्जाम में सफल होने के लिए रणनीति, सुझाव और तरकीब

{"first_class":"1","title":"\u090f\u0917\u094d\u091c\u093e\u092e \u092e\u0947\u0902 \u0938\u092b\u0932 \u0939\u094b\u0928\u0947 \u0915\u0947 \u0932\u093f\u090f \u0930\u0923\u0928\u0940\u0924\u093f, \u0938\u0941\u091d\u093e\u0935 \u0914\u0930 \u0924\u0930\u0915\u0940\u092c","show_title":"1","post_type":"post","taxonomy":"","term":"","post_ids":"21201","course_style":"recent","featured_style":"side","masonry":"0","grid_columns":"clear1 col-md-12","column_width":"200","gutter":"30","grid_number":"1","infinite":"0","pagination":"1","grid_excerpt_length":"100","grid_link":"1","css_class":"","container_css":"","custom_css":""}

पाठ्यक्रम


 

क्र.सं.विषय 
1विकास की अवधारण एवं इसका अधिगम से सम्बन्ध
2बाल विकास के सिद्धान्त 
3आनुवंशिकता एवं वातावरण का प्रभाव
4समाजीकरण की प्रक्रिया
5पियाजे कोहलबर्ग एवं वाइगोत्स्की के सिद्धान्त 
6बाल -केन्द्रित शिक्षा एवं प्रगतिशील शिक्षा की अवधारण 
7बुद्धि निर्माण एवं बहुआयामी बुद्धि 
8भाषा और चिन्तन 
9समाज निर्माण में लैंगिक मुद्दे 
10वैयक्तिक विभिन्नता
11अधिगम का मूल्यांकन
12उपलब्धि का मूल्यांकन एवं प्रश्नों का निर्माणविविध पृष्ठभूमि के बालकों की पहचान 
13संज्ञान तथा संवेग
14अभिप्रेरणा एवं अधिगम राष्ट्रीय पाठ्चर्या की रूपरेखा
15भाषा हिन्दी I
16अपठित गधांश
17अपठित पधांश

 

क्र.सं.विषय
1.अधिगम एवं अर्जन
2.भाषा शिक्षण के सिद्धान्त 
3.भाषा के कार्य एवं इसके विकास में बोलने एवं सुनने की भूमिका 
4.भाषा अधिगम में व्याकरण की भूमिका
5.भाषायी विविधता वाले कक्षा- कक्ष की समस्याएं
6.भाषा कौशल 
7भषा बोध, शिक्षण सहायक सामग्री ,उपचारात्मक शिक्षण

Unseen Passage (Prose)
Unseen Passage (Poetry)
Pedagoge of Language Devlopment
what is Language . Difference between Acquisition and Learning. Role of listeningand spesking challenges of teaching in a Diverse Classroom. Languge Skills.Teaching Learning Material Requisite and Evaluation of a Good text book.Role of Grammar. Remedial Teaching

प्रारम्भिक समाज कृषक एवं पशुपालन, स्थापत्य कला, साम्राज्य का निर्माण, सामाजिक परिर्वतन, क्षेत्रीय संस्कृतियां, राजनीति विकास कम्पनी शक्ति की स्थापना,  महिलाएं एवं सुधार, जाति प्रथा को चुनौती,  राष्ट्रीय आन्दोलन, स्वतन्त्रता के बाद भारत,  संस्कृति और विज्ञान, दिल्ली के  सुल्तान,  1857-58 की क्रान्ति

सामाजिक अध्ययन एवं विज्ञान के रूप में ग्रह सौरमण्डल में पृथ्वी ग्लोब पर्यावरण प्राकृतिक एवं मानव पर्यावरण वायु जल परिवहन एवं संचार कृषि

विविधता सरकार स्थानीय सरकार जीवन्त लोकतन्त्र का निर्माण, राज्य सरकार,  मीडिया की समझ, लिंग बोध, संविधान, संसदीय सरकार,  न्यायपालिका,  सामाजिक न्याय एवं हाशिए पर खड़े लोग

 

     1.सामाजिक अध्ययन सामाजिक विज्ञान की अवधारणा एवं प्रकृति
     2.कक्षा प्रक्रियाएं गतिविधियां एवं प्रबन्ध
     3.तार्किक चिन्तन का विकास
    4.परिपृच्छा अन्वेषण अनुभवजन्य साक्ष्य
     5.

परियोजना कार्य मूल्यांकन



सवाल और जवाब


Viewing 5 topics - 1 through 2 (of 33 total)
Viewing 5 topics - 1 through 2 (of 33 total)
Create New Topic in “Teaching”
Your information:





Home Six Forums Teaching exam Topics

Viewing 5 topics - 1 through 2 (of 413 total)
Viewing 5 topics - 1 through 2 (of 413 total)

Copyright 2017 © AMARUJALA.COM. All rights reserved.