अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति ने 2018 में होने वाले विंटर ओलंपिक में रूस को हिस्सा लेने से प्रतिबंधित कर दिया है। रूस पर यह प्रतिबंध डोपिंग मामले के तहत लगाया गया है। हांलांकि विंटर ओलंपिक में रूस के खिलाड़ी भाग ले सकते हैं जो यह साबित कर दें कि वे डोपिंग में शामिल नहीं हैं। रूस के खिलाड़ी जो ओलंपिक में भाग लेंगे वे प्रतिबंधित झंडे का प्रयोग नहीं कर सकेंगे। 2014 में रूस में आयोजित विंटर ओलंपिक में मेजबान सरकार द्वारा प्रायोजित डोपिंग की शिकायतें प्राप्त हुईं थी। जिसके बाद अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति के अध्यक्ष थॉमस बास और बोर्ड ने इस विषय पर जांच रिपोर्ट पढ़नें के बाद रूस पर प्रतिबंध लगाया।

Winter Olympics 2018

इस विषय पर जांच स्विट्जरलैंड के पूर्व राष्ट्रपति सैमुअल श्मिट के नेतृत्व में इस मामले की 17 महीने तक चली थी। विंटर ओलंपिक 2018 का आयोजन 09 फरवरी, 2018 से दक्षिण कोरिया के प्योंगचांग में किया जाएगा। अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति के अध्यक्ष बाख ने कहा, "ये ओलंपिक गेम्स और खेलों की पवित्रता पर अभूतपूर्व हमला है। इस घटना के बाद एक रेखा खींचना जरूरी है और असरकारी एंटी डोपिंग तंत्र को और मजबूत किए जाने की जरूरत है।"

More Current Affairs

Related Articles:

  • Share: